यूपी : MNNIT के छात्रों की स्टार्टअप कंपनी इस ट्रेन के स्लीपर कोच में सिर्फ 59 रुपये में देंगी ये 8 चीजें

India News

अगले महीने से प्रयागराज एक्सप्रेस के स्लीपर में भी कंबल, चादर, तौलिया और तकिया मिलेगा। वातानुकूलित कोच की तर्ज पर शुरू की जा रही इस सेवा में यात्रियों को पानी की बोतल, सेनिटाइजर, बिस्किट के एक पैकेट के साथ ही एक हैंडी डस्टबिन भी दिया जाएगा। मोती लाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएनएनआईटी) से बीटेक कर रहे छात्रों की स्टार्टअप कंपनी कॉम्फी क्लीन टेक यह सभी आठ सामग्री महज 59 रुपये में उपलब्ध कराएगी।

निदेशक के पत्र पर दो महीने का ट्रायल
एमएनएनआईटी के निदेशक प्रो. राजीव त्रिपाठी के पत्र का संज्ञान लेते हुए रेलवे के सीनियर डीएमई (कैरेज एण्ड वैगेन) ने इस पंजीकृत स्टार्टअप को दो महीने के ट्रायल के लिए मंजूरी दी है। बीटेक बायोटेक तृतीय वर्ष के छात्र सोनू कुमार गुप्ता, जो इस कंपनी के संस्थापक और सीईओ भी हैं, के साथ ही बीटेक तृतीय वर्ष सिविल इंजीनियरिंग के आकाश कुमार, रौनक गाजवीए, केशरी नाथ तिवारी, संजय कुमार और द्वितीय वर्ष के डेविड, आशीष तथा हिमांशु कुमार इस स्टार्टअप से जुड़े हुए हैं, जो संस्थान के शिक्षक डॉ. नंद कुमार सिंह के निर्देशन में काम कर रहे हैं। सीईओ सोनू ने बताया कि दिसंबर के पहले सप्ताह में परीक्षाएं समाप्त होने के बाद यह सेवा शुरू की जाएगी।

प्लेटफार्म पर कर सकेंगे बुकिंग
ट्रेन छूटने से पहले प्लेटफार्म पर इसकी बुकिंग होगी फिर यात्रियों को उनकी सीट पर यह सामग्री मुहैया कराई जाएगी। चलती ट्रेन में भी यात्री इस सेवा का लाभ उठा सकेंगे। इस ट्रेन में ट्रायल पूरा होने के बाद रेलवे की मंजूरी से कुछ और ट्रेनों में भी यह सेवा शुरू करने की योजना है। कंपनी भविष्य में इस सेवा को मोबाइल एप से जोड़ते हुए यात्रियों को कुछ और सहूलियतें भी उपलब्ध कराएगी।

पुरा छात्रों से जुटा रहे फंड
इस काम को विस्तार देने के लिए कंपनी संस्थान के पुरा छात्रों के साथ ही इच्छुक लोगों से फंड भी एकत्रित कर रही है। कंपनी का मैनेजमेंट देखने वाले आकाश ने बताया कि स्वच्छ भारत की दिशा में काम करते हुए यात्रियों को हैंडी डस्टबिन दी जाएगी, जिसमें वह कूड़ा रख सकेंगे। ट्रेन से बाहर निकलने के बाद उसे डस्टबिन में डाल देंगे।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *